Get Exclusive Proposals of IAS, IPS, IFS, IRS, IAS, IIT, IIM, Industrialists & NRI
Testmony
 
 
 
 
 
About Horoscopes

सभी जातियो में में Horoscope देखा जाता है

(1)    Brahmin में Nadi
(2)    Chhatriya में वर्ण
(3)    Vaish में गण
(4)    Shudra में योनि

मंगल का प्रभाव (मांगलिक)

यदि 1,4,7,8,12 में यदि मंगल है तो मांगलिक

यदि 25 गुण से ऊपर मिल रहे हो तो मांगलिक दोष शान्त हो जाता है

यदि लग्न में 6 न. है तो मंगल कही हो तो कोर्इ मतलब नही है तो उसका प्रभाव शून्य है।

मंगल के साथ यदि बृहस्पति/शनि है तो मंगल का दोष शान्त हो जाता है

1,2,4,7,8,12 में कही गुरू शनि है तो मंगल नही है।

यदि पत्री में भृकुटि दोष हो तो राम चरित मानस का पाठ करें।

मकर, मेष, वृषिचक, सिंह, धनु, मीन इन राषियों में मंगल शुभ माने गये है।